Real estate bill 2016

केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री वेंकेया नायडू का कहना है की हाउसिंग सेक्टर वालो के लिए अब अच्छे दिन आने वाले हैं क्योंकि सरकार ने Real estate bill 2016 को पास कर के एक बड़ा तोहफा दिया हैं ग्राहकों को , वाही दूसरी और ग्राहकों से धोखा करने वाले चतुर बिल्डर्स को एक बड़ा झटका लगाने से कम नहीं हैं ये बिल …

करीबन 10 लाख लोग हर साल फ्लैट खरीदते हैं , हाउसिंग सेक्टर में 13 लाख 800 करोड़ का निवेश हैं ..और 7600 से ज्यादा कंपनी इसमें काम कर रही हैं … लेकिन इसके बावजूद आप पाएंगे की ऐसे बहुत से प्रोजक्ट हैं जो कई सालो से पुरे भी नहीं हुए हैं | जिसकी वजह से खरीददार यानी उपभोक्ता किराया  भी चूका रहा है और साथ में EMI भी | और बेचारा उपभोक्ता लाचार होकर कभी कोर्ट के दरवाजे ख़त खटखटाता या कभी बिल्डर के सामने आंसू बहता , लेकिन इन बिल्डर के माया जाल में एक बार फंस जाने के बाद लाचार उपभोक्ता को दर दर ठोकर के अलावा कुछ हांसिल नहीं होता |

 

लेकिन राज्यसभा में पास हुआ Real Estate (Regulation and Development) Bill (RERA) क्या ग्राहकों को इन सभी उल्जनो से छुटकारा दिलाएगा ? क्या इसके पास होने से हाउसिंग सेक्टर को फायदा होगा ? यह एक बहस का मुद्दा बना हुआ हैं | लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह उठता हैं की अचानक इसकी जरुँरत क्यों पड़ी ?

दरसल ऐसा होता आया हैं की प्रोजेक्ट बेचने के चक्कर में बिल्डर ग्राहकों को बड़े बड़े लुभावने विज्ञापन दिखा कर उन्हें सपनो की दुनिया में ले जाता हैं और फिर जब ग्राहक जब उसके झांसे में एक बार आ जाता हैं तो फिर ग्राहक को पता चलता हैं की उसने सबसे बड़ी गलती कर दी इस प्रोजेक्ट में निवेश कर के , खरीद दारी के वक़्त जब builder buyers agreement होता था वो सिर्फ एक तरफ़ा यानी बिल्डर के पक्ष में होता था  और फ्लैट खरीदने की शर्तो में ग्राहकों की कोई भूमिका नहीं होती थी | अगर खरीदार पैसे देने में देरी करे तो 18 या 24% के हिसाब से ब्याज लगाया जाता है लेकिन अगर बिल्डर प्रोजेक्ट देने में देरी करे 4% की दर से ब्याज देने की बात की जाती है। यही नहीं जो पैनल्टी या ब्याज देने की बात बिल्डर करता है वह भी देने को तैयार नहीं होता है।

और साथ में प्रोजेक्ट को बिल्डर पूरा करने में बहुत समय लगाते है , जो समय बताया जाता हैं उस से भी बहुत ज्यादा लेते थे …लेकिन इस बिल से अब उनके लिए सबक बन सकता हैं..

 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s