#shutdownJNU “देश के अपने दुश्मन”

भारत के असली दुश्मन देश के बहार नहीं , बल्कि देश के अन्दर भी है

आखिर क्या है विवाद ?

जवाहर लाल नेहरु यूनिवर्सिटी के छात्रों ने आतंकवादी अफजल गुरु, जिसने दिसम्बर 2001 को भरतीय संसद पर हमला किया था , के लिए छात्रों ने स्मरणोत्सव आयोजित किया और साथ ही JNU के कैंपस में छात्रों  ने देश के खिलाफ नारे बाजी किए , पाकिस्तान जिंदाबाद  , हर एक घर से अफजल निकलेगा , और कितने मासूमो को मरोगे और साथ ही भारत से कश्मीर को आजाद करने के नारे बाजी हुई जिसका विरोध ABVP के छात्रों ने किया |

शरमसार किया देश को … आपको याद होगा .. की केसे कुछ महीने पहले तक फिल्म और टेलीविज़न इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया (FTII) में नियुक्त नए अध्यक्ष को लेकर विरोध हो रहा था | जहा बच्चे 139 दिनों तक हड़ताल करते रहे | उसके बाद हाल ही की बात है,  जब यह सामने आया की हेदराबाद यूनिवर्सिटी में आतंकवादी याकूब मेनन जिसको पिछले साल फांसी हुई थी , उसके लिए रैली निकली गई … और विरोध करने पर एक दलित छात्र रोहित वेमुला को अपनी जिन्दगी गवानी पड़ी |

और आज एक और यह स्थिति आ गई है की भारत की सबसे जानी मानी यूनिवर्सिटी … दिल्ली में स्थित जवाहर लाल नेहरु यूनिवर्सिटी में बच्चो ने आज देश के खिलाफ नारे लगाकर यह साबित कर दिया की , भारत के असली दुश्मन देश के बहार नहीं , बल्कि देश के अन्दर भी है | जी हां , आज जवाहर लाल नेहरु यूनिवर्सिटी के छात्रों ने आतंकवादी अफजल गुरु के सन्दर्भ में रैली निकाली … जिनका कहना यह था की अफजल गुरु को फांसी नहीं होनी चाहिए थी …|

सुन कर बहुत हेरानी होगी की आतंकवादी को सपोर्ट करने वाले कोई अनपढ़ नहीं , बल्कि  देश की सर्वोच्च प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी “JNU” में पढने वाले छात्र हैं| जिन्होंने आज “पाकिस्तान जिंदाबाद” और “कितने मासूम याकूब मरोगे” जेसे  शर्मिंदा करने वाले देश के खिलाफ नारे लगाए | और साथ ही में कश्मीर को भारत से आजाद करने के नारे भी लगाये …जिस से यह साबित हो गया हैं की JNU में पड़े लिखे अनपढ़ भरे हुए हैं |

9 दिन पहले भारत और पाकिस्तान की सीमा पर स्थित सियाचिन जहा -45 डिग्री तापमान की वजह से हमारे देश के वीर शहीद हो गए | और आज ही 6 दिन तक अपनी जिन्दगी से लड़कर एक महान इंसान हनुमंथप्पा शहीद हो गया | वो आज भी सोच रहे होंगे की हम किस देश के लोगो की रक्षा के लिए सीमा पर तेनात रहते है , जहा के बच्चे खुद आतंकवादी से कम वाली हरकत नहीं करते , कश्मीर भारत का एक प्रमुख अंग है , और उसी कश्मीर ओ आजाद करने के लिए नारे लगाये जा रहे है …कितनी शर्मनाक बात है …|

याकूब मेनन और अब अफजल गुरु , ऐसा क्या हो गया है आजकल की JNU के छात्र इनके लिए इतना प्रेम और सम्मान बता रहे है …क्या उन्होंने कभी उन सिपाहियों  के लिए प्रेम जताया … क्या उन सिपाहियों  के सम्मान के लिए कुछ किया जो अपने परिवार से दूर  रह कर भारत माँ की रक्षा करते है |

दुसरो के पैसो से मुफ्त में पढने वाले JNU के छात्र क्या समजेंगे ये बात …अगर इतना ही पाकिस्तान या आतंकवाद से प्यार हैं तो पाकिस्तान चले जाओ …अब तो ऐसा लगता है की जवाहर लाल यूनिवर्सिटी की जगह दिल्ली में नहीं , इस्लामाबाद होनी चाहिए |

कुछ दिन पहले विराट  कोहली के प्रशंसक ने पाकिस्तान में भारत का झंडा फेहराया था तो उसे 10 साल की सजा गोषित कर दी पाकिस्तान सरकार ने और यहाँ खुले आम देश के खिलाफ मुहफट   नारे बाजी , बयान बाजी हो रही है .. और वह छात्र आजादी से घूम रे है … क्या यह है freedom of speech ?

Advertisements

One thought on “#shutdownJNU “देश के अपने दुश्मन”

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s