Complete_Story : Sheena Bora Murder Mystery

झूठ की बुनियाद पर खड़ी रिश्तों की ये इमारत हवा के एक मामूली झोंके से ऐसी ज़मींदोज हुई कि अब पूरी दुनिया तमाशा देख रही है… कहने को तो दोनों पति-पत्नी थे, सोशलाइट थे, करोड़ों के मालिक थे… दोनों के पास दुनियावी चीज़ों की कोई कमी नहीं थी… लेकिन जब इन्हीं के परिवार में एक लड़की का क़त्ल हुआ, तो तफ्तीश की आंच में दोनों के रिश्तों की चिंदिया भी बिखरने लगी… जी हां, रिश्ते पीटर मुखर्जी और उसकी दूसरी पत्नी इंद्राणी मुखर्जी के, और रिश्ते इंद्राणी मुखर्जी और उसके तीसरे पति पीटर मुखर्जी के…

ये है रिश्तों का वो पेंच जिसमें फरेब है, धोखा है, झूठ से पैदा हुआ एक नाजायज़ रिश्ता है और उस रिश्ते को छुपाने के लिए हुआ एक कत्ल है. पर इस रिश्ते के तार को हम बाद में छुएंगे. कहानी समझ लें. अगर मुंबई पुलिस की तफ्तीश की लाइन बिल्कुल सही है तो यकीन मानिए मुंबई की हाई सोसायटी में हुआ ऑनर किलिंग का ये पहला मामला है. ये पहला मामला है जब एक मां को अपनी बेटी का कत्ल इसलिए करना पड़ा क्योंकि बेटी जिस लड़के से प्यार कर बैठी थी वो रिश्ते में उसका सौतेला भाई था. वो देश में प्राइवेट टीवी चैनलों को कामयाब बनाने वाले धुरंधरों में से एक. नाम पीटर मुखर्जी. वही पीटर मुखर्जी जिनकी अगुआई में स्टार टीवी देश में स्टार की तरह चमका. जिसके बाद देश में प्राइवट चैनलों ने कामयाबी के नए झंडे गाड़ने शुरू कर दिए. उन्हीं पीटर मुखर्जी की दूसरी पत्नी इंद्राणी मुखर्जी को मुंबई पुलिस ने मंगलवार शाम अचानक गिरफ्तार कर हरेक को चौंका दिया. इंद्राणी पर इल्‍जाम लगा कि तीन साल पहले उन्होंने अपनी बहन शीना का कत्ल किया है.

इंद्राणी कोई छोटी-मोटी हस्ती नहीं हैं. पीटर मुखर्जी की पत्नी होने के साथ-साथ 9एक्स मीडिया की फाउंडर भी हैं. मगर इंद्रानी की गिरफ्तारी के बाद सवेरा होते-होते खुद पुलिस का सिर चकरा गया जब उसे पता चला कि शीना इंद्राणी की बहन नहीं बल्कि बेटी थी. रिश्तों का ऐसा पेंच घूमा कि पूछिए मत. जैसे-जैसे रिश्ते खुलते गए तीन साल पहले हुए कत्ल की वो गुत्थी भी खुलती चली गई जिस पर अब तक पर्दा पड़ा था. मुंबई से बहुत दूर रायगढ़ के जंगल में एक अधजली लाश के बचे खुचे टुकड़े मिलते हैं. और इसी के साथ सामने आती है वो कहानी. वो कहानी जो 24 घंटे से भी कम वक्त में कई करवट बदलती है.

तीन साल तक शीना कैसे ग़ायब रही? तीन साल तक इंद्राणी ने पुलिस में रिपोर्ट क्यों नहीं लिखाई? तीन साल तक इंद्राणी झूठ क्यों बोलती रही कि शीना अमेरिका में है? तीन साल बाद अचानक शीना का सच कैसे सामने आया? कैसे पता चला कि शीना का क़त्ल कर दिया गया है?

किसने बताया कि शीना की लाश रायगढ के जंगल में है? कत्ल की ये वारदात जितनी उलझी और पेचीदा है इसके खुलने का मामला भी उतना है हैरतअंगेज़. बस यूं समझ लीजिए कि पुलिस कुछ और तलाश करने निकली थी और अचानक उसके हाथ शीना की मौत का सच लग गया.

2 मई 2012, रायगढ़, महाराष्ट्र.  मुंबई से करीब 103 किलोमीटर दूर रायगढ़ जिले के जंगल में एक महिला की अधजली लाश के कुछ हिस्से मिलते हैं. लोकल पुलिस मरने वाली की शिनाख्त करने की कोशिश करती है. मगर कोई फायदा नहीं होता. तब रायगढ़ के एसपी आरडी शिंडे थे. शिंडे के मुताबिक शिनाख्त ना होने और कोई सबूत ना मिलने की वजह से रिपोर्ट लिखने के बाद पुलिस अधजली लाश के हिस्सों का संस्कार कर देती है.21 अगस्त 2015. मुंबई पुलिस 43 साल के श्याम मनोहर राय नाम के एक शख्स को गिरफ्तार करती है. राय को अवैध रूप से पिस्टल रखने के सिलसिले में गिरफ्तार किया जाता है. इसी मामले में पुलिस जब उससे पूछताछ करती है तो राय अचानक बताता है कि वो पहले भी कई जुर्म कर चुका है. इनमें 2012 में एक मर्डर भी शामिल है. राय ही वो शख्स था जो पहली बार खुलासा करता है कि मर्डर करने के बाद उसने लाश को रायगढ़ के जंगलों में जला और दफना दिया था. इस सूचना पर मुंबई पुलिस जब रायगढ़ पुलिस से संपर्क करती है तो पता चलता है कि मई 2102 में सचमुच एक महिला की जली हुई लाश के कुछ हिस्से मिले थे. इसी के बाद मुंबई पुलिस की एक टीम फौरन रायगढ़ रवाना हो जाती है. वहां राय के बताए जगह पर खुदाई की जाती है तो पता चलता है कि राय सच बोल रहा है. खुदाई में एक महिला की लाश के कुछ हिस्से मिलते हैं. इसके बाद मुंबई पुलिस राय से जब और सख्ती से पूछताछ करती है तब वो पहली बार बताता है कि वो कुछ वक्त पहले पीटर मुखर्जी की पत्नी इंद्राणी मुखर्जी का ड्राइवर था. और इंद्राणी के कहने पर ही उसने शीना बोरा नाम की महिला का कत्ल कर लाश रायगढ़ के जंगल में दफना दी थी. श्याम मनोहर राय ने पुलिस को बताया कि वो, उसका एक साथी और इंद्राणी शीना के साथ मुंबई के बांद्रा इलाके से रायगढ़ कार में गए थे. कार में ही उन्होंने पहले शीना की गला दबा कर हत्या कर दी और फिर रायगढ़ कें सुनसान जंगल में पेट्रोल डाल कर लाश जलाने के बाद बाकी हिस्सा दफना दिया.

राय के खुलासे और शुरूआती सबूत हाथ आते ही पुलिस ने मंगलवार शाम को इंद्राणी मुखर्जी को मुंबई में उनके घर से गिरफ्तार कर लिया. सूत्रों के मुताबिक पहले तो इंद्राणी न सिर्फ राय के इल्‍जामों से इंकार करती रहीं बल्कि यही कहती रहीं कि शीना उनकी बहन है और तीन साल से अमेरिका में रह रही है. मगर जब राय और उनका सामना कराया गया तो आखिरकार वो टूट गईं. और कत्ल की बात कबूल कर ली. पुलिस सूत्रों के मुताबिक इंद्राणी ने माना कि शीना के साथ उसके रिश्ते अच्छे नहीं थे. 2012 में एक रोज इंद्राणी ने दोनों के बीच जारी विवाद को सुलझाने के बहाने शीना को बांद्रा में मिलने के लिए बुलाया. फिर उसे कार में बैठा लिया. कार में ड्राइवर श्याम राय के अलावा एक शख्स और था. इसके बाद कार में ही शीना की गला दबा कर हत्या कर दी गई. वैसे पुलिस सूत्रों के मुताबिक रिश्ते के अलावा कत्ल के पीछे पैसा भी एक मकसद हो सकता है. मुंबई पुलिस शायद गुरूवार को इसका खुलासा भी करे. इस बीच इंद्राणी के बाद पुलिस ने बुधवार शाम को उनके पूर्व पति संजीव खन्ना को भी कोलकाता से गिरफ्तार कर लिया है.

Reports by Internet news

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s