INDEPENDENCE DAY SPECIAL : क्या हम वाकई आजाद है , भारत की ये तस्वीर बदलनी होगी ! by Sourabh Prajapat

आज भारत को आजाद हुए 68 वर्ष हो गए है … स्वतंत्रता दिवस आते ही सब में मानो देश भक्ति जाग जाती है …. हर तरफ स्वतंत्रता दिवस की बधाइयाँ दी जाने लगती है … पर सवाल यह है क्या हम वाकई में आजाद हुए है ?  सवाल इसलिए उठता है , क्योकि अब भी भारत में कुछ लोग ऐसे है जो आजाद भारत में होकर भी अपने आप को बंधक महसूस करते है … हम तो आजादी को अच्छे से मना रहे है पर उनको आजादी कोन दिलाएगा ………कोई गरीबी से आजादी चाहता है तो कोई भुखमरी से , कोई बच्चा फैक्ट्री , होटल में काम करने से आजाद होना चाहता है तो कोई स्कूल जाना चाहता है  …  कोई सरकारी दफ्तरों के दर दर चक्कर लगा कर थक गया वो भ्रष्टाचार से आजादी चाहता है … कोई इस देश में आतंकवादी हमले की  वजह से अपनों को खोने के दर्द के कारण आतंकवाद से आजादी चाहता है … कोई बलात्कार की बढती हुई समस्याओ से  आजादी चाहता है …तो  कोई बच्चा जबरदस्ती भीख मंगवाने  से आजाद होना चाहता है तो कोई लड़की जबरदस्ती वैश्या के कामो से आजाद होकर खुदकी एक नयी पहचान बनाना चाहती है … ये सब कुछ चीजे है जो हमे सोचने पर मजबूर कर देती है की क्या हम वाकई में आजाद हुए है … भारत की इस तस्वीर को बदलने की बहुत जरुरत है ….इस तस्वीर को बदलना होगा … तभी भारत पूरी तरह से आजाद होगा ..

वर्तमान में 29.8 प्रतिशत भारतीय आबादी गरीबी रेखा से नीचे रहती है। गरीब की श्रेणी में वह लोग आते हैं जिनकी दैनिक आय शहरों में 28.65 रुपये और गांवों में 22.24 रुपये से कम है। हमारे देश में आज भी 20 करोड़ लोग रोजाना भूखे पेठ सोते है … हर 100 में से 5 भारतीय कुपोषित है … देश में हर तीन में से एक ग्रेजुएट बेरोजगार है ..वर्ष 1947 में भारत की कुल जनसँख्या केवल 35 करोड़ थी लेकिन वर्ष 2014 में यह जनसँख्या 127 करोड़ पहुँच गई … बढती हुई जनसँख्या से गरीबी बढ़ रही है … 1947 में एक डॉलर की कीमत केवल एक रुपया थी लेकिन आज इसकी कीमत 64 रुपया हो गई है … 54 प्रतिशत भारतीय आबादी आज भी पानी की समस्या का सामना कर रही है … 65.5 करोड़ भारतीयों के घर में शौचालय नहीं है … हमारे देश में 1311  लोगो के इलाज के लिए औसतन केवल १ डॉक्टर मौजूद है … भारत मैं 51 करोड़ भारतीयों का कोई बैंक खता नहीं है … लोग आज भी बैंक की सुविधा से वंचित है … हमारे देश में हर 30 मिनट में एक महिला बलात्कार का शिकार होती है  और भारत दुनिया का 85 वा भ्रस्ट देश है …

निचे कुछ भारत की कुछ दुखद तस्वीर है … जो आज भी अलग अलग समस्याओ से आजादी चाहती है …

click for youtube : bharat ki ye tasveer badalni hogi

poverty_india4---bag 10-water-IndiaInk-superJumbo 11water5 21-Poverty-IndiaInk-blog480 child-trafficking Enfants_des_rues foot INDIA_(F)_0102_-_India_to_miss_UN_goals_for_poverty

SAM_2957; Gujarat, Rajasthan, India; 05/22/2008, INDIA-11398
SAM_2957; Gujarat, Rajasthan, India; 05/22/2008, INDIA-11398

poverty-in-india water-crisis

po

Survey record : DNA

Advertisements

One thought on “INDEPENDENCE DAY SPECIAL : क्या हम वाकई आजाद है , भारत की ये तस्वीर बदलनी होगी ! by Sourabh Prajapat

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s